एक फोटोग्राफर ऐसा भी

चूंकि आज वर्ल्ड फोटोग्राफी दिवस पे लोग तरह-तरह की तस्वीरें अपने सोशल मीडिया वॉल पर शेयर कर रहें हैं तो मुझे ये सब देखकर सबसे पहला नाम याद आया केविन कार्टर का.

केविन कार्टर एक ऐसा नाम है जिसे शायद फोटो जर्नलिस्म में भूलना मुश्किल है। लेकिन चूंकि आज वर्ल्ड फोटोग्राफी दिवस है तो हम उस धूमिल तस्वीर से धूल उठाना चाहते हैं जिसकी वजह से कार्टर हमारे बीच नहीं हैं.

मार्च 1993 में कार्टर को फोटो जर्नलिस्म के सिलसिले मे सूडान जाना पड़ा, उस समय सूडान भुखमरी से जूझ रहा था, जहां उन्होंने एक छोटा बच्चा ( जिसे पहले लड़की समझा जा रहा था) जो की भुखमरी से सूख चुका था और एक गिद्ध ठीक उसके पीछे उसके मरने का इंतजार कर रहा था कार्टर ने उसकी तस्वीर अपने कैमरे में कैद की, जो तस्वीर बाद में  ‘ The Vulture and the little girl’ के नाम से फेमस हुई.

कार्टर की ये फोटो पहली बार न्यूयॉर्क टाइम्स में 26 मार्च 1993 में देखी गयी। इसके लिए कार्टर को Pulitzer Prize for Feature Photography अवार्ड से नवाज गया.

इस फोटो के वायरल होने के बाद लोगों ने कार्टर से सवाल करना शुरू किया की बाद में उस लड़की का क्या हुआ ? ये वही समय था जब बाद में कार्टर ने 23 जुलाई ,1994 में आत्महत्या कर ली, माना जाता है कि जब कार्टर से लोगों ने सवाल किये कि उस लड़की का क्या हुआ तो कार्टर ने कहा कि शायद उन्हे नहीं पता? किसी पत्रकार ने जवाब में कहा तो उस दिन वहाँ एक नहीं बल्कि दो गिद्ध थे, कार्टर उस दर्द को सह नहीं सके और उन्होंने आत्महत्या कर लिया.

जून 2019 में केविन इंडिया में भी खूब चर्चे में रहे.  केविन के चर्चे में होने का सम्बन्ध मुजफ्फरपुर, बिहार से है, जब अंजना ओम कश्यप बिहार के एक हॉस्पिटल के आई.सी.यू. मे घुसकर डॉक्टरों से सवाल जवाब करने लगीं. तब लोगों ने अंजना की तुलना केविन कार्टर द्वारा ली गयी तस्वीर से की गयी.

3 thoughts on “एक फोटोग्राफर ऐसा भी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *